यूपी टीईटी 2019 के लिए आवेदन एक नवंबर से, संशोधन का मौका नहीं, अभ्यर्थी ध्यान रखें ये बातें..

यूपी टीईटी 2019 के लिए आवेदन एक नवंबर से, संशोधन का मौका नहीं, अभ्यर्थी ध्यान रखें ये बातें..
up tet 2019


यूपी टीईटी 2019 के लिए आवेदन एक नवम्बर से शुरू हो जाएंगे। इसके लिए विज्ञापन 31 अक्तूबर को जारी किया जाएगा। टीईटी इस बार 22 दिसंबर को होनी है।

नई व्यवस्था के मुताबिक इस बार दिव्यांगों को श्रुत लेखक यानी सहायक के लिए पहले से ही सूचना देनी होगी। इस बार दिव्यांग लोग यदि श्रुतलेखक ला रहे हैं तो उनका परिचय पत्र और शैक्षणिक योग्यता का प्रमाण पत्र लाना अनिवार्य होगा। वहीं बाद में उत्तर माला में आपत्ति करने पर भी शुल्क लगा दिया गया है। 

इसके अलावा इस परीक्षा में भी यूपी बोर्ड सरीखी व्यवस्था की गई है। पर्यवेक्षक भी स्मार्ट फोन नहीं ले जा सकेंगे। उन्हें केवल बटन वाला फोन ले जाने की इजाजत है। 


अभ्यर्थी ध्यान रखें-


1-आवेदन पत्र पर अभ्यर्थी अपना हस्ताक्षरयुक्त फोटो ही अपलोड करें। आवेदन करने से पहले ही इसे स्कैन करके रखें।

2-आवेदन पत्र में संशोधन का अवसर नहीं दिया जाएगा। लिहाजा सभी प्रविष्ठियां ध्यान से भरें। 

3-आपका भरा हुआ आवेदन ही अंतिम माना जाना जाएगा। फाइनल सेव के बाद इसमें कोई भी संशोधन मान्य नहीं होगा। लिहाजा पंजीकरण करने के बाद उसका प्रिंट लें और उसमें अंकित सभी प्रविष्ठियों का मिलान करें। इसके बाद ही फाइनल सेव का बटन दबाएं।

4-आवेदन करते समय जिस मोबाइल नंबर का उल्लेख करें, उसे अपने पास रखें। शपथपत्र को सबमिट करने के लिए इसी नंबर पर ओटीपी आएगा। 


5-यदि एक अभ्यर्थी एक से अधिक आवेदन करेगा तो अंतिम आवेदन को ही मान्य मानते हुए बाकी सभी आवेदन निरस्त कर दिये जाएंगे। 

6-उत्तर पत्रक पर रफ काम न करें। रफ काम बुकलेट पर करें।

7- उत्तर पत्रक के नीचे दिये गए कॉलम में हल किये प्रश्नों की संख्या का उल्लेख अवश्य करें और इसे जमा करते समय उपस्थिति पत्रक पर हस्ताक्षर करना अनिवार्य है। 
8- पेंसिल का इस्तेमाल प्रतिबंधित है। केवल काले रंग के बॉल पेन का इस्तेमाल करें।


Post a Comment

4 Comments